[psl_page_header page_id=13]

Blog

Onlinexams.in News 04/Jan/2017

  • भारत के पहले सिख मुख्य न्यायाधीश बने जस्टिस खेहर, राष्ट्रपति ने दिलाई शपथ

    1
    जस्टिस जगदीश सिंह खेहर ने बुधवार को भारत के भारत के 44वें मुख्य न्यायाधीश के रुप में शपथ ली। राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने बुधवार सुबह राष्ट्रपति भवन में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में उन्हें मुख्य न्यायाधीश पद की शपथ दिलाई। इसके साथ ही जस्टिस खेहर भारत के पहले सिख मुख्य न्यायाधीश होंगे।
    गौरतलब है कि मुख्य न्यायाधीश जस्टिस टीएस ठाकुर मंगलवार को रिटायर हो गए। जस्‍टिस तीरथ सिंह ठाकुर ने अपने उत्‍तराधिकारी के रूप में जस्टिस खेहर को नामित किया था। जस्टिस खेहर का कार्यकाल 27 अगस्‍त, 2017 तक रहेंगा।28 अगस्त 1952 में जन्मे न्यायमूर्ति खेहड़ ने वर्ष 1974 में चंडीगढ़ से स्नातक की डिग्री हासिल की थी। इसके बाद उन्होंने पंजाब विश्वविद्यालय से एलएलबी की डिग्री हासिल की। इसके बाद उन्होंने एलएलएम भी किया। उन्होंने एलएलएम में प्रथम स्थान हासिल किया था।
    वर्ष 1979 से उन्होंने वकालत की शुरुआत की। वह मुख्य तौर पर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट, हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस करते थे। आठ फरवरी, 1999 में उन्हें पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में जज नियुक्त किया गया।नवंबर, 2009 को वह उत्तराखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस बनाए गए। इसके बाद वह कर्नाटक हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस बने। सितंबर, 2011 में वह सुप्रीम कोर्ट के जज बने। मालूम हो कि न्यायमूर्ति खेहर की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने ही राष्ट्रीय न्यायिक नियुक्ति आयोग (एनजेएसी) को निरस्त कर दिया था।

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तिरूपति में 104वें भारतीय विज्ञान कांग्रेस सम्मेलन का उद्घाटन किया

    2
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्री वेंकेटेश्वर विश्वविद्यालय में पांच दिवसीय भारतीय विज्ञान कांग्रेस का उद्घाटन किया. इस भारतीय विज्ञान कांग्रेस का थीम है: राष्ट्रीय विकास के वास्ते विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी.प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नोबेल शांति पुरस्कार विजेताओं समेत मशहूर वैज्ञानिकों की सभा को संबोधित किया. प्रधानमंत्री बनने के बाद यह दूसरा मौका होगा जब नरेन्द्र मोदी तिरुपति बालाजी मंदिर में आएंगे.इसके पहले वे पिछले वर्ष 22 अक्टूबर को मंदिर आए थे. पहली बार 1983 में यहां 70 भारतीय विज्ञान कांग्रेस हुई थी. इस साल यह 104 वीं भारतीय विज्ञान कांग्रेस है.तिरूपति दूसरी बार भारतीय विज्ञान कांग्रेस की मेजबारी कर रहा है.
    104वें भारतीय विज्ञान कांग्रेस सम्मेलन से संबंधित मुख्य तथ्य:
    -देशभर के 14,000 वैज्ञानिकों एवं विद्वानों के अतिरिक्त अमेरिका, इस्राइल, जापान, फ्रांस और बांग्लादेश जैसे विभिन्न देशों के छह नोबेल पुरस्कार विजेता भी इसमें भाग लेंगे.
    -नोबेल पुरस्कार विजेताओं को प्रधानमंत्री द्वारा स्वर्ण पदक प्रदान कर सम्मानित किया जाएगा.
    -नरेन्द्र मोदी विश्वविद्यलाय में नोबेल पुरस्कार विजेताओं, गणमान्य अतिथियों, मशहूर भारतीय वैज्ञानिकों एवं शीर्ष अधिकारियों समेत 50 लोगों के साथ संक्षिप्त संवाद भी करेंगे.

  • दीपा मलिक और अरुणिमा सिन्हा को स्वच्छ नई दिल्ली का ब्रांड एंबेसडर नियुक्त किया गया

    3
    नई दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) ने रियो पैरालिंपिक गेम्स-2016 में रजत पदक और अर्जुन पुरस्कार जीतने वाली दीपा मलिक और अरुणिमा सिन्हा को स्वच्छ एनडीएमसी का ब्रैंड ऐंबैसडर नियुक्त किया है.दोनों खिलाडियों दीपा मलिक और अरुणिमा सिन्हा ने आरके आश्रम मार्ग पर पब्लिक टॉइलेट का उद्घा‌टन भी किया. यह अभियान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुगम्य भारत योजना का एक हिस्सा बनेगा.एनडीएमसी ने काउंसिल की इमारतों और संसद मार्ग पर दिव्यांगों की सुविधा हेतु इंतजाम किए जाने की भी घोषणा की.अरुणिमा सिन्हा ने दिव्यांग होने के बावजूद एवरेस्ट की चढ़ाई की. अरुणिमा सिन्हा के अनुसार आपका प्रत्येक कदम स्वच्छता की दिशा में दूसरे लोगों को नई दिल्ली को स्वच्छ शहर बनाने में प्रेरणादायी होगा.दीपा मलिक के अनुसार नई दिल्ली को स्मार्ट और आधुनिक नागरिक सुविधाओं से युक्त राजधानी में बदलने की हम सब की जिम्मेवारी है.जनहित में दिल्ली को स्वच्छ बनाने हेतु अभियान चलाया जाना चाहिए. जिससे उनको यह अहसास कराया जा सके कि स्वच्छता रोजमर्रा की जिंदगी का एक जरूरी अंग ही नहीं बल्कि एक दिनचर्या है.

  • बुकर पुरस्कार विजेता लेखक जॉन बर्जर का निधन

    4
    बुकर पुरस्कार विजेता, उपन्यास लेखक और एवं कला समीक्षक जॉन बर्जर का निधन हो गया है. वह 90 वर्ष के थे. टेलीग्राफ की खबर के मुताबिक मार्क्‍सवादी बुद्धिजीवी का निधन पेरिस के एंटोनी उपनगर में हुआ.बीबीसी पर आई उनकी ‘‘वेज ऑफ सीइंग’’ श्रृंखला ने कला समीक्षा में राजनीतिक दृष्टिकोण का सूत्रपात किया था. बर्जर को 1972 में उनकी किताब ‘जी’ के लिए बुकर पुरस्कार दिया गया था. पुरस्कार की आधी राशि बर्जर ने रेडिकल अफ्रीकी-अमेरिकी आंदोलन ब्लैक पैंथर्स को दे दी थी. उत्तरी लंदन में पैदा हुए बर्जर ने अपने करियर की शुरुआत एक पेंटर के तौर पर की थी.उनके निधन की खबर पर कलाकार डेविड श्रिगले ने ट्वीट किया, ‘‘अलविदा जॉन बर्जर, आपको बहुत याद किया जाएगा, कला का सबसे महान लेखक.

  • हिन्दुस्तान पेट्रोलियम ने छत्तीसगढ़ में पेट्रोलियम, ऑयल और लुब्रीकेंट डिपो स्थापना हेतु समझौता किया

    5
    देश की नवरत्न कंपनी हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन राज्य में पेट्रोलियम, ऑयल और लुब्रीकेंट (पीओएल) डिपों की स्थापना करने जा रही है। मुख्यमंत्री रमन सिंह की अध्यक्षता में मंगलवार को मंत्रालय (महानदी भवन) में आयोजित बैठक में लगभग 336 करोड़ रूपए के पूंजी निवेश के लिए छत्तीसगढ़ सरकार के साथ दो समझौता ज्ञापनों (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। दूसरा एमओयू राजधानी में एलईडी लाइट निर्माण के संबंध में है।

  • क्या है समझौता
    समझौते के अनुसार भारत सरकार की सार्वजनिक क्षेत्र की नवरत्न कम्पनी हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (एचपीसीएल) द्वारा राज्य में पेट्रोलियम, ऑयल और लुब्रीकेंट (पीओएल) डिपो की स्थापना की जाएगी। इसके लिए कम्पनी द्वारा 324 करोड़ रूपए का निवेश किया जाएगा। बैठक में नया रायपुर स्थित इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग क्लस्टर में एलईडी लाइट निर्माण संयंत्र की स्थापना के लिए छत्तीसगढ़ सरकार और निजी क्षेत्र की एक कम्पनी मिलेनियम इन्फ्राटेक के बीच एमओयू हुआ। इस प्रोजेक्ट पर संबंधित कम्पनी द्वारा 12 करोड़ रूपए की पूंजी लगाई जाएगी। दोनों नई परियोजनाओं में काफी संख्या में स्थानीय लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा।
  • 115 एकड़ में होगा डिपो का निर्माण
    हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (एचपीसीएल) द्वारा पीओएल डिपो जांजगीर-चांपा जिले के नया बाराद्वार रेलवे स्टेशन के पास स्थापित किया जाएगा। यह परियोजना 115 एकड़ क्षेत्र में होगी। इसमें रेलवे स्लाइडिंग की आवश्यकता भी शामिल है। छत्तीसगढ़ राज्य औद्योगिक विकास निगम (सीएसआईडीसी) द्वारा पहले से ही एचपीसीएल को 100 एकड़ भूमि आवंटित की जा चुकी है, साथ ही इस परियोजना के लिए अतिरिक्त 15 एकड़ भूमि का आबंटन कुछ सप्ताह के भीतर कर दिया जायेगा। हिन्दुस्तान पेट्रोलियम के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक मुकेश कुमार सुराना ने बताया कि कम्पनी द्वारा बहुत जल्द छत्तीसगढ़ में अपने एलपीजी बॉटलिंग संयंत्र की भी स्थापना की जाएगी।
  • न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहड़ ने सुप्रीम कोर्ट के 44वें मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ ली

    6
    जस्टिस जगदीश सिंह खेहड़ सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बन गए हैं। राष्ट्रपति भवन में बुधवार को जस्टिस जेएस खेहर को सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के तौर पर राष्ट्रपति भवन में प्रणब मुखर्जी ने शपथ दिलाई गई। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मौजूद थे। खेहर देश के 44 वें मुख्य न्यायाधीश हैं। मुख्य न्यायाधीश जस्टिस टीएस ठाकुर मंगलवार को रिटायर हो गए। खेहड़ पहले सिख मुख्य न्यायाधीश होंगे।गौरतलब हैं कि जस्टिस खेहड़ ने 1977 में पीयू के लॉ विभाग से एलएलबी और 1979 में एलएलएम की डिग्री हासिल की थी। कॉलेज स्तर की पढ़ाई खेहर ने शहर के प्रतिष्ठित पोस्ट ग्रेजुएट गवर्नमेंट कॉलेज (जीसी-11) से बीएससी डिग्री के साथ की है।पंजाब में 28 अगस्त 1952 में जन्में जस्टिस जगदीश सिंह खेहड़ (64) का कार्यकाल काफी कम होगा, वह लगभग आठ माह के कार्यकाल के बाद 27 अगस्त 2017 को सेवानिवृत्त हो जाएंगे। वह नवंबर 2009 में नैनीताल हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बने, उसके बाद उन्हें कर्नाटक हाईकोर्ट को मुख्य न्यायाधीश बनाया गया। 13 सितंबर 2011 को वह सुप्रीम कोर्ट में जज के रूप में प्रोन्नत किए गए।जस्टिस खेहड़ ने राजकीय कालेज चंडीगढ़ से बीएससी करने के बाद पंजाब विवि से एलएलबी की डिग्री हासिल की और उसके बाद एलएलएम की डिग्री गोल्ड मेडल के साथ पास की। 1979 में उनहोंने पंजाब एंव हरियाणा हाईकोर्ट में प्रेक्टिस शुरू की और केसों में सुप्रीम कोर्ट भी आते रहे। 8 फरवरी 1999 को उन्हें पंचाब और हरियाणा हाईकोर्ट में जज नियुक्त किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *